Computer kya hai? और कंप्यूटर के प्रकार

आज हम Computer के बारे में बात करने वाले है आज हम जानने वाले है कि Computer Kya hai, Computer के बारे में आज हम बहुत ही विस्तार से जानेंगे जिस से की आपको भविष्य में कभी भी Computer Kya hai, ये internet पर search करने की जरुरत न पड़े।

आज मैं आपको Computer Kya hai, उस के साथ साथ Computer के प्रकार भी बताऊंगा और हम कंप्यूटर की हानियाँ, लाभ और उसका भविष्य के बारे में भी बात करेंगे।

सबसे पहले में आपको बता दूँ, कि आप जो कंप्यूटर आज उपयोग में ले रहे है उसको बहुत से वैज्ञानिको ने बहुत सालो की मेहनत से बनाया है।

तो चलिए हम बिना किसी देरी के कंप्यूटर के बारे में बात करते है।

कंप्यूटर क्या है?(Computer Kya hai)

अगर हम कंप्यूटर की परिभाषा की बात करें तो :-

Computer एक ऐसी मशीन जो User द्वारा दिए गए तय निर्देशों पर कार्य करके User को जानकारी(Information) उपलब्ध कराता है, उसे कंप्यूटर कहते है। यह लेटिन भाषा के शब्द “Compute” से बना है जिसका अर्थ है “गणना करना”

विश्व का सबसे पहला कंप्यूटर चीन में बना था, जो एक गणना करने की मशीन थी, जिसे अबेकस कहा जाता है। 

Computer की full Form

Computer की full form आपको यहाँ दी गई है:-

C – Commonly
O – Operated
M – Machine
P – particularly
U – Used for
T – Technical and
E – Educational
R -Research

कंप्यूटर के प्रकार

जब हम computer नाम सुनते है तो घरो और office के कंप्यूटर के साथ साथ लैपटॉप और फ़ोन हमारे मन में आते है। 

computer यही तक सिमित नही है। हमारे आस पास के बहुत से ऐसे computer है। हम कंप्यूटर को आकर (Size), कार्य क्षमता(Ability) और उपयोग के आधार पर कंप्यूटर को कई प्रकार में बाँट सकते है।

Computer के कई प्रकार है जिनको आकर और अनु प्रयोग के आधार पर बाँटा गया है, जिनमे आकर के आधार पर पांच और अनु प्रयोग के आधार पर तीन प्रकार के computer है। 

अनु प्रयोग के आधार पर 

अनुप्रयोग के आधार पर computer को तीन भागो में बांटा गया है।

अनुप्रयोग का अर्थ है की जिस प्रकार के क्षेत्र में जिस प्रकार के कंप्यूटर की जरूरत हो उसी प्रकार के कंप्यूटर का उपयोग होता है।

Analog Computer

Analog Computer एक ऐसी मशीन है जो आंकड़ो के आधार पर गणना करके हमें रिजल्ट देता है। यह कंप्यूटर ताप, दाब, गति, लम्बाई,ऊंचाई, आदि को दर्शाता है।

इसकी कार्यक्षमता तेज होती है इसका परिणाम हमें ग्राफ के रूप में दिखता है।

थर्मामीटर Analog computer का उदहारण है।

Digital Computer

digital computer एनालॉग कंप्यूटर से अलग होता है ये कंप्यूटर सुचना को अंकीय रूप में दिखाता है।

ये कंप्यूटर सुचना को अंकीय रूप में दिखने के लिए Binary सिस्टम (0,1) का उपयोग करता है, ये कंप्यूटर गणितीय कार्य करने में सक्षम होता है जैसे – Calculator.

Analog computer मापता है, परन्तु डिजिटल computer गिनता है।

Hybrid Computer

hybrid कंप्यूटर एक ऐसा कंप्यूटर है, जो डिजिटल और Analog कंप्यूटर दोनों के गुण अपने अंदर रखता है।

hybrid computers के परिणाम शुद्ध और बहुत तेज होते है। इनका उपयोग जटिल गणितीय समीकरण, वैज्ञानिक गणनाए तथा रक्षा विभाग में किया जाता है।

hybrid computers का उदहारण पेट्रोल पंप पर हमें देखने को मिलता है।

आकर के आधार पर

आकर के आधार पर computers को पांच भागो में बांटा गया है, आकार के आधार पर कंप्यूटर

1. Micro Computer

2. Workstation Computer

3. Mini Computer

4. Mainframe Computer

5. Super Computer 

कंप्यूटर के भाग

computer के भागो(Mouse, keyboard, speaker, Moniter, CPU आदि) को तीन भागो में बांटा गया है। जो इस प्रकार दिए गए है :-

computer kya hai

Input Device

इनपुट device वह होते है जो computer के अंदर डाटा को देने का काम करते है या कंप्यूटर को कोई निर्देश देते है जिस पर CPU काम करके computer हमें Output दे।

Example:- Mouse, Keyboard आदि।

Processing Unit

processing unit कंप्यूटर का वह भाग है जहा पर डाटा इनपुट होने के बाद और यूजर को भेजे जाने से पहले उसपर काम किया जाता है।

Example:- CPU आदि।

Output Device

output device ऐसे device होते है जिनसे यूजर द्वारा दिया गया डाटा प्रोसेसिंग के बाद हम देख या सुन सकते है जैसे Moniter, speaker आदि।

कंप्यूटर के उपयोग

आज के समय में कंप्यूटर के उपयोग हर प्रकार के कार्य के लिए होने लगे हैं। computer का उपयोग शिक्षा से लेकर कार्य करने तक में हो रहा है, हम जो फ़ोन चला रहे है ये भी एक प्रकार का कंप्यूटर है।

हम कुछ गणना करने के लिए calculator का उपयोग करते है ये भी एक प्रकार का कंप्यूटर है।

आप कंप्यूटर के उपयोग को समझना चाहते है तो ऐसे समझ सकते है की आज घर में सदस्य कम और computer ज्यादा है!

Computer के उपयोग आज के समय में हर feild में हो रहा हैं।

computer kya hai
Computer Kya hai

कंप्यूटर के फायदे और नुकसान

computer kya hai ये जानने के बाद आपको computer के फायदे और नुकसान जानने चाहिए, computer के आने से मनुष्य का काम आसान हो गया है और इसके बहुत सारे फायदे भी है लेकिन इसके कुछ नुकसान भी है तो हम अब उन सभी नुकसान और फायदों के बारे में बात करेंगे।

फायदे

सबसे पहले हम कंप्यूटर के फायदों के बारे में बात करते है।

  • काम में गति
  • काम में शुद्धता
  • काम में स्वचालन
  • विस्वास
  • काम में कर्मठता

नुकसान

कंप्यूटर के फायदों के साथ साथ इसके कुछ नुकसान भी है जैसे कि

  • बच्चो पर इसका गलत प्रभाव पड़ सकता है।
  • Virus और hacking Attecks
  • बढते Cyber Crimes
  • computer की वजह रोजगार में कमी
  • व्यक्ति का काम आसान होने से वह मेहनत करना भूल जाता है।
  • कुछ लोग कंप्यूटर का गलत उपयोग करते है।

कंप्यूटर की विशेषताएँ

Computer की विशेषताओ के बारे में बात करें तो कंप्यूटर की बहुत साडी विशेषताएं है जिनमे से कुछ विशेषताएं मेने आपको यहाँ दी है।

गति 

गति के बारे में हम बात करे तो कंप्यूटर अपना काम बहुत ही गति से करता है परन्तु मनुष्य उतनी गति से काम नही कर सकता हैं।

जो काम एक अच्छा कंप्यूटर 10 मिनट में करता है उतना काम करने में मनुष्य को कम से कम एक महीना लग सकता है।

स्वचालन 

कंप्यूटर में स्वचालन का गुण पाया जाता है हम इसे एक बार कोई काम अछे से दे दें तो बाद में ये बिना रुके वोह काम अछे से कर सकता है।

कंप्यूटर को इन्सान की तरह बार बार उसी काम को समझाना नही पड़ता।

शुद्धता

कंप्यूटर में शुद्धता का गुण एक बहुत ही अच्छा गुण है, हम जो भी काम कंप्यूटर को करने के लिए देते है वो वह बहुत ही सावधानी से करता है, उसमे कोई त्रुटी आने की सम्भावना बहुत ही कम होती है।

अगर आपने उसको काम देने में कोई त्रुटी दी है, तो ही कंप्यूटर में त्रुटी आ सकती है, अन्यथा कंप्यूटर में किसी Virus की वजह से त्रुटी आ सकती है।

सर्वभोमिकता

कंप्यूटर अपनी सर्वभोमिकता के कारन पूरी दुनिया में प्रचलित हो रहा है ये दुनिया के हर क्षेत्र में उप्तोग किया जा रहा हैं।

  • बैंक
  • शिक्षा
  • व्यापार
  • रेलवे आदि।

स्टोरेज कैपिसिटी

storage Capicity एक बहुत ही अच्छा गुण है जिसका उपयोग हर कोई व्यक्ति करता है, जो कंप्यूटर का उपयोग करता है।

हम अपने कंप्यूटर में कोई चीज स्टोर करना चाहते है तो हमें storage Capicity का उसे करना होगा।

कर्मठता

मानव किसी भी कार्य को निरंतर कई घंटो तक कर सकता है, परन्तु कंप्यूटर उससे ज्यादा कठिन कार्य को कई दिनों तक या कई महीनों तक निरंतर कर सकता है। और कंप्यूटर उस कार्य को करने में थकता भी नही है।

विश्वसनीयता

अगर हम कंप्यूटर से कोई काम करवाते है तो हमें इसपर कोई भी संदेह नही होना चाहिए, अगर हम कोई काम किसी व्यक्ति से करवाते है तो हमें संदेह हो सकता है की कही वह हमारा डाटा किसी और को न देदें।

याद रखने की क्षमता

कंप्यूटर में याद रखने की क्षमता बहुत ही अच्छी होती है हमने 10 साल पहले जो भी कंप्यूटर में स्टोर किया है वो डाटा भी कंप्यूटर हमे एक मिनट में ला के दे सकता है।

Hardware और Software

Hardware और software ये दोनों ही कंप्यूटर के अभिन्न भाग है और दोनों के बिना ही कंप्यूटर अधुरा है।

Hardware

hardware कंप्यूटर का वह भाग होता है जो बाहर होता है जिस के द्वारा हम काम करते है या यु समझे की जिस को हम देख और छू सकते है वह hardware है।

जैसे – Moniter, CPU, Keyboard, Mouse आदि।

Software

software कंप्यूटर का वह अभिन्न अंग है जिसे हम आँखों से देख सकते है, परन्तु हाथो से छू नही सकते है।

जैसे – VLC Media Player, MS. Office, MS. paint, Chrome आदि।

Computer का भविष्य

computer ka bhavisya बहुत ही सुन्हेरा है क्योकि आगे र कम कंप्यूटर में होने वाला है। बहुत से काम तो अब भी कंप्यूटर द्वारा होने लगे है।

जैसे – शिक्षा, व्यापार, बैंकिंग आदि

आने वाले समय में ऐसा लग रहा है की हर काम कंप्यूटर की मदद से होगा।

2020 में कोरोना वायरस के कारन बहुत से काम ऑनलाइन आ गये है बच्चे ऑनलाइन पढने लगे है और internet का उपयोग बहुत ही बढ़ गया हैं।

Leave a Comment